जिन्होने मोदी को दिया था नोटबंदी का सुझाव, अब लेकर आये हैं नया प्रपोजल

नोटबंदी के बाद अब बोकिल देश में व्याप्त बेरोजगारी की समस्या पर अपना सुझाव दिया है, उन्होने सरकार से वर्किग ऑवर कम करने की बात कही है।

New Delhi, Nov 09 : नोटबंदी के एक साल पूरे हो चुके हैं, 8 नवंबर 2016 की आधी रात से पीएम नरेन्द्र मोदी ने पांच सौ और हजार रुपये के नोट बंद करने का एलान किया था, आपको बता दें कि इससे करीब तीन साल पहले पुणे के अर्थक्रांति प्रतिष्ठान के अनिल बोकिल ने नोटबंदी का प्रपोजल मोदी और बीजेपी के दूसरे नेताओं को दिया था। नोटबंदी के बाद अब बोकिल देश में व्याप्त बेरोजगारी की समस्या पर अपना सुझाव दिया है, उन्होने सरकार से वर्किग ऑवर कम करने की बात कही है।

ये है अनिल बोकिल का नया प्रपोजल

अनिल बोकिल का कहना है कि नोटबंदी अब पुराना मामला हो चुका है, अब उन्होने सरकार को ड्यूटी ऑवर 8 घंटे से घटाकर 6 घंटे कर देने का सुझाव दिया है, उनका कहना है कि इससे रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे और कर्मचारी भी काम अच्छा करेंगे।anil bokil बोकिल के अनुसार इस सुझाव से देश में बढ रही बेरोजगारी का समस्या दूर हो जाएगी और करोड़ों लोगों को रोजगार मिलेगा।

अनिल बोकिल का ये है तर्क

उन्होने आगे बोलते हुए कहा कि भारत एक उष्ण कटिबंधीय देश है, ज्यादातर कर्मचारी 8 घंटे के शिफ्ट में साढे तीन से चार घंटे ही प्रभावी ढंग से काम कर पाते हैं। anil bokil1प्रोडक्टिविटी बढाने के लिये काम के घंटों को 6 कर देना चाहिये, इससे मिड सीनियर और सीनियर स्तर के लोग अपने परिवार के साथ ज्यादा समय बिता सकेंगे, इससे युवाओं को भी रोजगार मिलेगा।

ग्रामीण इलाकों में फायदा

अनिल बोकिल ने इसके बारे में बोलते हुए कहा कि काम के घंटो की दो शिफ्ट करने से रोजगार के अवसर भी डबल हो जाएंगे, इससे देश की जीडीपी बढेगी और कर्मचारी भी बेहतर काम कर सकेंगे, बोकिल ने आगे बोलते हुए कहा किanil bokil6 इससे ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को भी फायदा मिलेगा, वो खेती के साथ-साथ नौकरी भी कर सकेंगे, जिससे उनके परिवार की स्थिति अच्छी होगी।

कौन हैं अनिल बोकिल ?

महाराष्ट्र के लातूर जिले में पैदा हुए 53 साल के अनिल बोकिल अर्थक्रांति प्रतिष्ठान के फाउंडर हैं, वो मेकेनिकल इंजीनियर हैं, बाद में उन्होने इकॉनमिक्स की भी पढाई की और पीएचडी हासिल की, वो अविवाहित हैं, anil bokil2इंजीनियरिंग के साथ-साथ वो मुंबई में कुछ समय तक डिफेंस सर्विस से भी जुड़े रहे, फिर उन्होने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में खुद का कुछ करने का सोचा और इंडस्ट्रियल टूल्स एंड पार्ट्स की फैक्ट्री लगाई।

पहला प्रॉफिट गरीबों में बांटा

वो अपनी कंपनी में रेयर किस्म के पार्ट्स बनाते हैं, जब उनकी कंपनी में पहला प्रॉफिट हुआ, तो वो उसे अपने घर ले जाने के बजाय गरीबों में बांट आए, वो कहते हैं कि उन्हें ऐसा कर सुकून और खुशी का अनुभव मिलता है। वो जिस अर्थक्रांति संस्थान को चलाते हैं, anil bokil3वो पुणे की इकोनॉमिक एडवाइजरी संस्था है, इसमें सीए और इंजीनियर शामिल हैं, अर्थक्रांति प्रपोजल को संस्थान ने पेटेंट कराया है।

मोदी को दिया था प्रपोजल

सीए और इंजीनियरों की इस संस्था ने अपने प्रपोजल में कहा था कि इम्पोर्ट ड्यूटी छोड़कर 56 तरह के टैक्स वापस लिये जाएं, साथ ही बड़ी कैरेंसी एक हजार, पांच सौ और सौ रुपये के नोट वापस लिये जाएं, इस देश की 78 फीसदी आबादी रोजाना 20 रुपये खर्च करती है, Narendra Modiऐसे में उन्हें एक हजार के नोट की क्या आवश्यकता ? इस संस्थान के सुझाव के अनुसार सभी तरह के बड़े ट्रांजेक्शन सिर्फ बैंक चेक, डीडी या फिर ऑनलाइन हो, कैश ट्रांजेक्शन के लिये लिमिट फिक्स किया जाए।

कांग्रेस उपाध्यक्ष को भी दिया था प्रजेंटेशन

अनिल बोकिल कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भी मिले थे, उन्होने उन्हें भी अपना प्रजेंटेशन दिया था, उन्होने बताया कि ऐसा नहीं है कि राहुल जी ने सिर्फ 2-3 सेकेंड दिये थे, उनसे तीन-चार मिनट तक अच्छी बात हुई थी, फिर उन्होने अपने एक्सपर्ट का नंबर दिया, rahul-gandhiउन्हें प्लान पसंद आया था, लेकिन हर सरकार चीजों को अलग नजरिये से देखती है। उनकी सोच अलग होती है।

कई बार रिजेक्ट हुआ था प्रपोजल

नरेन्द्र मोदी से मुलाकात से पहले वो कई बार अपने प्लान को लेकर अलग-अलग मंत्रियों से भी मिले, लेकिन उन्हें कहीं से पॉजिटिव रिस्पॉन्स ना मिला, लेकिन उनका आत्मविश्वास टूटा नहीं, उन्हें यकीन था कि सही समय आएगा। anil bokil7वो खुद से ज्यादा समाज और संस्था के बारे में सोचते हैं, लोग उन्हें सेलिब्रिटी मानते हैं, लेकिन आज भी उनके पैर जमीन पर हैं।

Click To Comment
Daily Horoscope
नए ‘किलर’ लुक में मारुति बलेनो…3 मार्च को मचेगा तहलका…लग्जरी कार भी फेल !

नए ‘किलर’ लुक में मारुति बलेनो…3 मार्च को मचेगा तहलका…लग्जरी कार भी फेल !

मारुति सुजूकी की बलेनो नए लुक में लॉन्च हो गई है। इस कार के फीचर्स इतने लाजवाब हैं कि इसके आगे लग्जरी कार भी फेल नजर आएगी। पढ़िए ये खबर New Delhi, Feb 15 : आपको याद होगा मारुति सुजूकी की बलेनो ने जब भारत के कार मार्केट में नए अवतार के साथ एंट्री मारी थी तो इस वक्त भारत के कार मार्केट में बवाल मच गया था। अब ये कार एक बार फिर से नए और किलर लुक में…
पथरी की परेशानी हो जाएगी दूर,अगर डायट में शामिल होगी ये गुणकारी सब्‍जी !

पथरी की परेशानी हो जाएगी दूर,अगर डायट में शामिल होगी ये गुणकारी सब्‍जी !

हरी सब्जियों में से एक तुरई की सब्‍जी पथरी में कमाल का असर करती है । पथरी के अलावा भी इसके कई फायदे हैं ... जानेंगे तो हैरान हो जाएंगे । New Delhi, Feb 25 : तुरई, तोरी या नेनुआ ... सब्‍जी एक है बस नाम अनेक हैं । लेकिन इन नामों की ही तरह तुरई के फायदे भी अनेक हैं । हरी सब्‍जी खाने की सलाह डॉक्‍टर क्‍यों देते हैं ... इसलिए क्‍योंकि इनमें आयरन के साथ वो सभी…
J K Sethi

J K Sethi

J K Sethi | J K Sethi Ji is as an Indian Vedic Astrologer and learnt astrology from India's renowned institutions & worldwide famous Astrologer and conferred the title of "Jyotish Shiromani", "Jyotish Visharad" & "Jyotish Kovid" from various institutions of India, practicing Systems Approach to Vedic Astrology (Hindu system of Astrology) since last decade. Life member of Indian Council of Astrological Sciences (ICAS), Madras, Member of International Institute of Predictive Astrology (IIPA), Satva, Systems Institute of Hindu Astrology. He has been participating in many consultation clinics…