कुलभूषण जाधव पर पाकिस्तान अब क्या करेगा ? – वेद प्रताप वैदिक

PIC-कुलभूषण जाधव

कुलभूषण जाधव के मामले में हेग के अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अंतरिम फैसला यह दिया है कि अगस्त के महीने तक पाकिस्तान उसे सजा न दे।

New Delhi, May 19 : कुलभूषण जाधव पर हेग इंटरनेशन कोर्ट ने कहा है कि अदालत के अंतिम फैसले का पाकिस्तान इंतजार करे। अब प्रश्न ये है कि पाकिस्तान क्या करेगा ? पाकिस्तान के पास इसके अलावा कोई चारा नहीं है कि वह जाधव को अगस्त तक फांसी पर न चढ़ाए। इसका कारण स्वयं पाकिस्तान ही है। यदि पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय अदालत का फैसला नहीं मानना है तो उसने अपने वकील को जाधव के खिलाफ जिरह करने को वहां भेजा ही क्यों ? यदि भेजा तो इसका अर्थ स्पष्ट है कि वह इस मामले में इस अदालत का क्षेत्राधिकार स्वीकार करता है। अब यदि वह इस अदालत के अभिमत का उल्लंघन करेगा तो सारी दुनिया में उसकी थू-थू हो जाएगी। इसीलिए पाकिस्तान के फौजियों और नेताओं को चाहिए कि वे अपनी इज्जत को बचाने की कोशिश करें।

Advertisement

कुलभूषण जाधव पर वैदिक आगे लिखते हैं कि पाक के नेता और फौजी अदालत की इज्जत करें तो उनकी इज्जत अपने आप बच जाएगी। दूसरी बात यह कि पाकिस्तान के वकील ने डेढ़ घंटे तक कौन लालू वैदिक पीसी, कुलभूषण जाधव से तथ्य पेश किए और कौनसे तर्क किए, जिनसे यह सिद्ध होता कि जाधव भारतीय जासूस था और उसे दूतावासीय सुविधाएं नहीं मिल सकती थीं ? अब तो पाकिस्तान को मजबूर होकर उसे भारतीय दूतावास की सुविधाएं मुहय्या करानी पड़ेंगी।

Advertisement

यदि पाकिस्तान अदालत के इस फैसले का उल्लंघन करेगा तो भारत सुरक्षा परिषद में जा सकता है। पाकिस्तान पर उद्दंड राज्य (रोफ स्टेट) होने का इल्जाम लगेगा। यह ठीक है कि हमारी राष्ट्रीय Ved Pratap Vaidik, Cameron, Narendra Modi, Rohith, Rajyasabha, वेद प्रताप वैदिक, रिश्वत, मोदी, जेटली, पर्रिकर, मदर टेरेसा, रोहित वेमुला, पाक, ट्रंप, राहुल गांधी, ट्रंप, खादी, बजट, मोहन भागवत, मोदी, सीरिया, कुलभूषण जाधव अदालतों की तरह हेग की अदालत के पास अपना फैसला लागू करने के लिए डंडे का जोर नहीं है लेकिन उसकी नैतिक सत्ता सारी दुनिया मानती है। क्या पाकिस्तान इस समय विश्व जनमत को अपने विरुद्ध करने की तैयारी में है?

बेहतर तो यह होगा कि पाकिस्तान की फौज और उसकी फौजी अदालत दोनों देशों के नेताओं और कूटनीतिज्ञों को आपस में बात करने दें। यह मामला ऐसा नहीं है कि इसे दोनों देश आपस में बातचीत से न सुलझा सकें। आश्चर्य की बात है कि दोनों देशों के नेता मामूली मसलों पर एक दूसरे को फोन करते रहते हैं लेकिन इस नाजुक मसले पर, जिसके कारण अंतरराष्ट्रीय बदनामी का डर है, आपस में कोई बात ही नहीं कर रहे हैं।

आगे पढ़ें :पाकिस्तान को पड़ा ‘जर्मन’ तमाचा…ICJ की बात माने पाक

Click To Comment
Daily Horoscope
Soon, Smartphones users to get panic button !

Soon, Smartphones users to get panic button !

Your phones will soon have a panic button which will be GPS-connected. New Delhi, Apr 27 : Ravi shankar Prasad, the Union Minister of Communications and Information Technology has passed an order of mandating facility of panic button in smartphones with the help of an in-built global positioning system (GPS) from January 1, 2017 to January 1, 2018 onwards, respectively. The document order says that, “feature phones without the facility of panic button by pressing Numeric key "5" or Numeric key "9" to…
ये है हाजमे की सबसे सस्‍ती दवा, चुटकियों में दर्द हो जाएगा छूमंतर …

ये है हाजमे की सबसे सस्‍ती दवा, चुटकियों में दर्द हो जाएगा छूमंतर …

पेट साफ ना होना, कब्‍ज रहना, खाना ना पचना ... ये समस्‍याएं अब आम हो गई हैं । अगर आप इन समस्‍याओं से निपटने में नाकाम हो रहे हैं तो जरा ये दवा अपनाएं ... New Delhi, Mar 27 : ये चमत्‍कारी दवा कोई और नहीं बल्कि अजवाइन है । जी हां, हम बात कर रहे हैं अजवाइन की .. इंग्लिश में इन्‍हें कैरम सीड्स कहा जाता है । अजवाइन के औषधीय गुण तो आयुर्वेद में भी बताए गए हैं…
J K Sethi

J K Sethi

J K Sethi | J K Sethi Ji is as an Indian Vedic Astrologer and learnt astrology from India's renowned institutions & worldwide famous Astrologer and conferred the title of "Jyotish Shiromani", "Jyotish Visharad" & "Jyotish Kovid" from various institutions of India, practicing Systems Approach to Vedic Astrology (Hindu system of Astrology) since last decade. Life member of Indian Council of Astrological Sciences (ICAS), Madras, Member of International Institute of Predictive Astrology (IIPA), Satva, Systems Institute of Hindu Astrology. He has been participating in many consultation clinics…
Please enable JavaScript!