पीएम मोदी कृपया ध्यान दें…नोटबंदी के बाद कई सेक्टर बेहाल..देश का क्या होगा ?

PIC- पीएम मोदी

पीएम मोदी के लिए नोटबंदी की राह आसान नहीं लग रही है। बताया जा रहा है कि इस फैसले के बाद से देशभर के कई सेक्टर का बुरा हाल है।

New Delhi, Jan 11 : नोटबंदी का ऐलान हुए 60 दिन से ज्यादा वक्त बीत गया है। अब तक ये साफ नहीं हो पाया है कि इसका असर क्या हुआ है। इस बीच वित्त मंत्री इनडायरेक्ट टैक्स में बढ़ोतरी का हवाला देकर कह रहे हैं कि नोटबंदी का कोई गलत असर नहीं हुआ है। लेकिन इस बात का सच क्या है कि नोटबंदी के बाद देश में सब कुछ ठीक हो रहा है। आज हम आपको देशभर के कुछ बड़े सेक्टर्स का काहल बता रहे हैं, ये ऐसे सेक्टर हैं, जिन पर देश की अर्थव्यवस्था काफी टिकी हुई है। इन आंकड़ों को देखने के बाद आप भी हैरान होंगे और फिर सवाल पूछेंगे कि क्या नोटबंदी सही दिशा में काम कर रही है। पहले आपको बता दें कि 8 नवंबर 2016 को पीएम मोदी ने नोटबंदी का ऐलान किया और तबसे लेकर अबतक क्या बदलाव हुआ, इस बारे में आपका जानना जरूरी है।  

Read Also : नोटबंदी में काले धन को सफेद करने के ‘गुनहगारों’ में सहकारी बैंक भी?

इस वक्त देशभर में ऑटो, RBI, रियल एस्टेट और एसएमई के आंकड़ों को देखें तो लग रहा है कि नोटबंदी का फैसला शायद ठीक नहीं रहा। आप सबसे पहले ये जान लीजिए कि देशभर के बैंकों का क्रेडिट ग्रोथ पिछले 60 सालों के मुकाबले सबसे निचले स्तर पर है। आरबीआई ने ये आंकड़े जारी किए हैं और कहा है कि 23 दिसंबर को देशभर के बैंकों की क्रेडिट ग्रोथ गिरकर 5.1 प्वॉइंट्स पर आ टिकी थी। कहा जा रहा है कि पिछले कई दशकों के बाद ये ग्रोथ इतने लो लेवल पर पहुंची है। कई अर्थशास्त्रियों का कहना है कि बैंको में लगातार दर्ज की जा रही क्रेडिट ग्रोथ देश के लिए चिंता का विषय है। इसके अलावा ऑटो सेल्स में भी नोटबंदी का बड़ा असर देखने को मिला है। आखिर कैसे ? ये भी हम आपको बताते हैं।

Read Also :मोदी की सबसे बड़ी अग्नि परीक्षा…नोटबंदी के मुद्दे पर अब फंसेंगे !

बताया जा रहा है कि ऑटो की सेल्स में इस साल बड़ी गिरावट देखने को मिली है। कहा जा रहा है कि पिछले 16 सालों से ऑटो सेल्स में ये सबसे बड़ी गिरावट है। ऑटोमोबाइल कंपनियों ने अपने सेल्स के आंकड़े जारी किए और ये देश के लिए काफी गंभीर संकेत कहे जा रहे हैं। सोसाइटी ऑफ इंडिया ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स का कहना है कि ऑटो सेल्स में इस बार 16 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली है। इसके अलावा रीयल एस्टेट का तो हाल सबसे ज्यादा बुरा है। बताया जा रहा है कि नोटबंदी के बाद से रीयल एस्टेट का धंधा करीब 44 फीसदी तक गिरा है और कहा जा रहा है कि आगे चलकर ये और ज्यादा गिर सकता है। ऐसे में अभी से ही नोटबंदी पर सवाल खड़े होने भी शुरू हो गए हैं।

Read Also : तब भी आप कहते हैं कि नोटबंदी सफल है?- Ravish Kumar

बताया जा रहा है कि पीएम मोदी द्वारा नोटबंदी का ऐलान करने के बाद से रियल एस्टेट इंडस्ट्री में करीब 44 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। इस फैसले के साथ ही इस सेक्टर को करीब 2600 कोरड़ रुपये का नुकसान हुआ है। इसके अलावा हिंदुस्तान के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के अलावा एक्सपोर्ट सेक्टर में 40% से ज्यादा शेयर रखने वाले एसएमई सेक्टर का भी बुरा हाल बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि नोटबंदी के बाद एसएमई बिजनेस में तेजी से गिरावट देखने को मिली है और इसके अलावा इस सेक्टर में कई लोगों की नौकरियां भी चली गई हैं। इसके अलावा कई अर्थशास्त्रियों का कहना है कि नोटबंदी के बाद से देश की जीडीपी ग्रोथ पर भी बड़ा असर पड़ सकता है। सरकार ने डीजीपी ग्रोथ का लक्ष्य 7.1 फीसदी रखा है।

आगे पढ़ें : अमित शाह बोले ढाई साल से हो रही थी नोटबंदी की तैयारी

 

 

 

Click To Comment
Daily Horoscope
Mobile phones app Veuon connects job seekers, employers geographically

Mobile phones app Veuon connects job seekers, employers geographically

Bengaluru, Nov 18: Mobile phones app Veuon, which seeks to connect job seekers and employers using GPS location technology, was the centre of attraction at CeBIT India 2015 on Friday. The app helps a job seeker to look for a specific job matching his qualification and experience in a specific geographic location, like a 10-kilometre radius in a particular city or so on, while an employer can search for talent within a specific region, like posting a job for a marketing…
URINE TEST: PAINLESS WAY OF DETECTING CANCER.  A new urine-based test has improved prostate cancer detection compared to traditional methods.

URINE TEST: PAINLESS WAY OF DETECTING CANCER. A new urine-based test has improved prostate cancer detection compared to traditional methods.

  New York, May 19 (ITN Network / IANS) A new urine-based test has improved prostate cancer detection compared to traditional methods, says a study. The test, developed at the University of Michigan Comprehensive Cancer Center in the US, is called Mi-Prostate Score, or MIPS. While traditional prostate cancer detection models are based on prostate serum antigen, or PSA, levels, the new method combines PSA with two markers for prostate cancer, both of which can be detected through a urine…
Manoj Kumar

Manoj Kumar

Manoj Kumar | Astrology ExpertRed book Astrologer Manoj is a qualified professional astrologer expert in Horoscope Prediction ,Match Making, vastu check . 5 years of experience in astrology. She has been honored as “Jyotish Shastracharya” & “Jyotish Rishi” by Redbook Federation of Astrologer’s Societies, Kolkata.HE started learning astrology at the young age  & gained the true knowledge of lalkitab astrology under the able guidance of her guru Prof. Atora ji And kumar ji a Renowned Astrologer of North India. he is…