ऑस्ट्रेलिया में नस्लीय हिंसा, भारतीय मूल के पादरी पर जानलेवा हमला

Indian_Prist, ऑस्ट्रेलिया

भारतीय मूल के पादरी पर हमला करने वाला इटैलियन मूल का है और ये हमला उसने चर्च के भीतर किया।

New Delhi, Mar 21 : अमेरिका की तरह से ही ऑस्ट्रेलिया में भी नस्लीय भेदभाव और नस्लीय हमले के मामले सामने आते रहते हैं और एक बार फिर से वहां भारतीय मूल के व्यक्ति पर हमला किया गया है। भारतीय मूल के ये व्यक्ति मेलबर्न में एक चर्च में पादरी हैं। ऑस्ट्रेलियाई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मेलबर्न में भारतीय मूल के पादरी फॉदर टॉमी मैथ्यू पर रविवार सुबह 11 बजे एक हमलावर ने चाकू से हमला किया। 48 वर्षीय फादर टॉमी मैथ्यू मेलबर्न कैथलिक चर्च में रविवार की प्रार्थना कराने वाले थे। जब वो रविवार को चर्च में प्रार्थना शुरू करवाने जा ही रहे थे कि, उसी वक्त हमलावर ने उनकी गर्दन पर चाकू से वार किया।

Advertisement

Read Also : पीएम मोदी की बढ़ती ताकत से पाकिस्तान परेशान ! बातचीत की लगा रहा गुहार !

जिस व्‍यक्ति ने फादर टॉमी मैथ्यू पर हमला किया वह इटैलियन मूल का है और उसकी उम्र 72 वर्ष है। वह मेलबर्न के सेंट मैथ्‍यूज पेरिश चर्च में रविवार को चर्च आया। चर्च में इटैलियन भाषा में प्रार्थना सभा हो रही थी। बताया जा रहा है कि हमलावर ने पादरी फादर टॉमी मैथ्यू से कहा कि वह एक भारतीय हैं, इसीलिए वह या तो हिंदू होंगे या फिर मुसलमान। हमलावर ने उनसे ये भी कहा कि वह ईसाई नहीं हैं, इसीलिए वह चर्च में प्रार्थना नहीं करवा सकते हैं। इसके बाद उसने एक चाकू निकाली और कई लोगों के सामने उन पर हमला कर दिया। हमला करते समय वो चिल्‍ला रहा था, ‘तुम एक भारतीय हो, एक हिंदु या फिर मुसलमान हो ऐसे में तुम प्रार्थना सभा नहीं करा सकते हो, मैं तुम्‍हें जान से मार दूंगा।’ कुछ लोगों ने हमलावर को पकड़ने की कोशिश की लेकिन वह भाग निकलने में सफल हो गया।

Advertisement

Read Also : पाकिस्तान फिर हुआ बेनकाब… ISI के कब्जे में हैैं दोनों भारतीय मौलवी !

घायल फादर टॉमी मैथ्यू को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। हमलावर ने जिस तरह की बातें की उससे यह नस्लीय घृणा का मामला माना जा रहा है। बाद में पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया। attack-on-indian-priestआरोपी पर फादर मैथ्यू के ऊपर हमला करने का मामला दर्ज किया गया है, 13 जून को उसकी अदालत में पेशी है।

Read Also : चीन-पाकिस्तान को फ्रांस की फटकार… आतंकवाद पर समझौैता नहीं !

फादर मैथ्‍यू मेलबर्न के इस चर्च में वर्ष 2014 से ही पादरी हैं। चर्च का संचालन करने वाली थामारसेरी डिऑइसीज अथॉरिटीज का कहना है कि फादर मैथ्‍यू चर्च में पादरी की ड्यूटीज को पूरा करते रहेंगे। मैथ्‍यू, केरल के कोझीकोड स्थित अनाक्‍कमपोयिल के रहने वाले हैं। Murderवर्ष 1994 में वह थामारसेरी डिऑइसीज अथॉरिटीज के साथ जुड़े थे और तब से ही वह धर्म का काम कर रहे हैं। पादरी बनने से पहले वह अल्‍फोंसा के स्‍कूल में टीचर के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

Read Also : पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने लगा दी मुहर… जबरदस्ती हिंदू से शादी करने वाले को लगेगा जुर्माना !

Click To Comment
Advertisement

Daily Horoscope
रिलायंस जियो को भूल जाइए…ये कंपनी 200 रुपये में देगी साल भर का डाटा फ्री !

रिलायंस जियो को भूल जाइए…ये कंपनी 200 रुपये में देगी साल भर का डाटा फ्री !

अगर आप सोच रहे हैं कि सबसे ज्यादा डाटा देने के मामले में रिलायंस जियो सबसे आगे है, तो आप गलत साबित हो सकते हैं। ये खबर पढ़ना आपके लिए जरूरी है। New Delhi, Mar 30 : आज के दौर में टेलिकॉम कंपनियों के बीच डाटा को लेकर जंग छिड़ी है। इस जंग में कौन सी कंपनी जीत हासिल करेगी, ये कहना अभी मुश्किल है। लेकिन इतना जरूर है कि आगे आने वाला वक्त बहुत ही दिलचस्प साबित होने वाला…
इन गर्मियों में पसीने की बदबू को कहिए बाय-बाय …

इन गर्मियों में पसीने की बदबू को कहिए बाय-बाय …

सर्दियां फुर्र हुईं और अब गर्मी पूरे शबाब पर आने की तैयारी में है । इस गर्मी आप पसीने से कैसे खुद को बचाएंगे आइए आपके लिए हम कुछ अच्‍छी-अच्‍छी टिप्‍स लेकर आए हैं ... New Delhi, Mar 30 : क्‍या आप भी उन लोगों में से हैं जिनसे पसीने की दुर्गंध आती है, क्‍या आप भी वो हैं जिनके पास में बैठने से लोग कतराते हैं, क्‍या आप खुद भी अपने पसीने की दुर्गंध से परेशान रहते हैं ।…
Alankrita Manvi

Alankrita Manvi

अलंकृता मानवी टैरो कार्ड रीडर अलंकृता मानवी वैसे तो किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं। लेकिन, फिर भी अगर आप इन्‍हें नहीं जानते हैं तो हम आपका इसने परिचय करा देते हैं। अलंकृता मानवी अद्भुत प्रतिभा की धनी हैं। इनकी सारी सुंदरता और उनके गुण इनके नाम में ही समाए हुए हैं। टैरो कार्ड के जरिए सटीक भविष्‍यवाणी करने वाली अलंकृता बॉलीवुड से लेकर राजनैतिक गलियारों में भी काफी प्रसिद्धी हासिल कर चुकी हैं। अलंकृता ने आज तक जितने भी…