यूपी बीजेपी में कुछ गड़बड़ है? अमित शाह से योगी आदित्यनाथ की शिकायत क्यों की गई ?

अमित शाह योगी आदित्यनाथ

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पिछले दिनों यूपी का दौरा किया वो 3 दिन वहां रहे, सूत्रों के मुताबिक कई बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उनसे योगी की शिकायत की थी।

New Delhi, Aug 10: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद जब बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री चुना तो कई लोगों को हैरानी हुई थी। योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने पर कुछ सपनों ने उड़ान भरी थी तो वहीं कुछ आशंकाओं ने भी जन्म लिया था। किसी को उम्मीद नहीं थी कि एक भगवाधारी मुख्यमंत्री की कुर्सी तक पहुंच सकता है। योगी का सीएम बनना एक संकेत माना गया कि अब हिंदूराष्ट्र की तरफ पहला कदम बढ़ा दिया गया है। कई उम्मीदें थी, शुरू के दिनों में योगी के काम की तेजी से विरोधी भी हैरान हुए थे। एक के बाद एक फैसले लिए गए, चुनावी वादों को पूरा करने की कोशिश की गई।

योगी सरकार के 120 दिन पूरा करते करते जीत का जोश उम्मीदों के बोझ तले दबा दिखने लगा है। सरकार से इतनी आकांक्षाएं हैं कि जिनको पूरा करना आसान नहीं होगा। इसी के साथ पार्टी के अंदर भी समस्या की शुरूआत हो चुकी है। बीजेपी के कार्यकर्ता, विधायकों और हाईकमान के बीच संवाद की कड़ी टूटती दिख रही है। सूत्रों के मुताबिक अमित शाह का तीन दिन का यूपी दौरा इसी टूटी कड़ी को जोड़ने की एक कोशिश था। अमित शाह ने यूपी दौरे पर जो देखा और जिस तरह से कार्यकर्ताओं से बात की उस से पता चल रहा है कि वो कितने गंभीर हैं। सबसे खास बात ये है कि पार्टी के विधायकों और कार्यकर्ताओं ने शाह से योगी आदित्यनाथ की शिकायत भी की थी।

सरकार बने अभी ज्यादा दिन नहीं हुए ऐसे में अगर पार्टी के नेता मुख्यमंत्री की शिकायत राष्ट्रीय अध्यक्ष से कर रहे हैं तो कहीं तो कुछ गड़बड़ है। कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि योगी उनकी छोटी छोटी मांगों पर ध्यान नहीं देते हैं। कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि सख्त छवि के बाद भी योगी अभी तक यूपी में कानून व्यवस्था को पटरी पर क्यों नहीं ला पाए हैं। कुछ ने शाह से शिकायते करते हुए कहा कि पार्टी में उनकी भूमिका कम होती जा रही है। उनको महत्व नहीं मिल रहा है। इनका कहना है कि जनता को हमसे कुछ उम्मीदें हैं, अगर उनको पूरा नहीं किया गया तो पार्टी के लिए हानिकारक होगा। कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि ब्यूरोक्रेसी जनता की शिकायतों पर ध्यान नहीं देती है।

कार्यकर्ताओं की इस शिकायत पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि वो किसी के दबाव में आए बिना काम करें। दरअसल योगी की छवि उनके लिए सबसे ऊपर है। वो सख्त प्रशासक की छवि रखते हैं। ऐसे में अपनी क्लीन छवि और पार्टी के कार्यकर्ताओं को खुश रखना दो बातें हैं जिनके बीच में उन्हे बैलेंस बनाना होगा। योगी के लिए झटका ये है कि उनके ही कुछ मंत्रियों ने कहा है कि वो सहयोग नहीं करते हैं। अमित शाह ने तीन दिन के दौरे में इन सारी शिकायतों को सुना और सभी पक्षों को समझाने की कोशिश की है। मिशन 2019 लोकसभा चुनाव है. जब बीजेपी पर अपने पिछले प्रदर्शन को दोहराने का दबाव होगा।

आगे पढ़ेंः खत्म होने वाला है कश्मीर का लफड़ा, पीएम मोदी के दिमाग में जबरदस्त प्लान !

Click To Comment
Daily Horoscope
आईफोन के दिल में बसा हिंदुस्तान…पीएम मोदी के इस प्लान पर काम करेगा ऐप्पल !

आईफोन के दिल में बसा हिंदुस्तान…पीएम मोदी के इस प्लान पर काम करेगा ऐप्पल !

दुनिया की बड़ी स्मार्टफोन कंपनियों में शुमार आईफोन अब भारत के लिए नया स्मार्टफोन तैयार कर रहा है। पढ़िए पीएम मोदी के इस प्लान के बारे में... New Delhi, Feb 17 : इस वक्त दुनिया भर में ऐप्पल के आईफोन स्मार्टफोन की जबरदस्त धूम है। अब तक ये कंपनी चाइना से अपने स्मार्टफोन तैयार कर रही थी, लेकिन चीन में बढ़ती लेबर कॉस्ट और मुश्किल से मिलने वाले टेक्निकल पार्ट्स की वजह से इस कंपनी को बड़ा नुकसान झेलना पड़…
Need to step up fight against smokeless killer

Need to step up fight against smokeless killer

By Rajat Arora New Delhi, May 29 (ITN Network / IANS) Wrapped inside betel leaves and placed in the corner of the mouth, chewing tobacco has been a practice in India for centuries. While there is certainly an increased awareness in terms of the harmful effects this could have on health, the medical fraternity is very much concerned about the growing number of cancerous lesions in the mouth. The prestigious scientific journal Lancet has placed India at the second position…
Manoj Kumar

Manoj Kumar

Manoj Kumar | Astrology ExpertRed book Astrologer Manoj is a qualified professional astrologer expert in Horoscope Prediction ,Match Making, vastu check . 5 years of experience in astrology. She has been honored as “Jyotish Shastracharya” & “Jyotish Rishi” by Redbook Federation of Astrologer’s Societies, Kolkata.HE started learning astrology at the young age  & gained the true knowledge of lalkitab astrology under the able guidance of her guru Prof. Atora ji And kumar ji a Renowned Astrologer of North India. he is…