CPEC : पाकिस्‍तान ने खुद लिखी अपनी बरबादी की इबारत, पाक पर होगा चीन का कब्‍जा !

CPEC

CPEC को लेकर पाकिस्‍तान ने अपनी बरबादी का तानाबाना खुद ही बुन लिया है। पाक चीन की चाल में बुरी तरह फंस गया है। जानिए कैसे फंसा पाक ?

New Delhi May 19 : चीन-पाकिस्‍तान इकोनॉमिक कॉरीडोर यानी CPEC को लेकर पाकिस्‍तान को बहुत उम्‍मीदें हैं। लेकिन, पाकिस्‍तान को शायद इस बात का अंदाजा भी नहीं है कि उसने जाने अनजाने में CPEC के जरिए अपनी बरबादी का पूरा का पूरा तानाबाना बुन लिया है। जानकारों का कहना है कि जिस तरह से इस प्रोजेक्‍ट पर काम हो रहा है और चीन पाकिस्‍तान के भीतर अपना दखल बढ़ाता जा रहा है कि उससे आने वाले दिनों में उसे इसकी बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। पाक अधिकृत कश्‍मीर से होकर गुजरने वाले इस कॉरीडोर को लेकर स्‍थानीय विरोध की आवाजों को भी यहां पर ना सिर्फ नजरअंदाज किया जा रहा है बल्कि उन्‍हें बुरी तरह कुचला जा रहा है। ये पाकिस्‍तान के लिए किसी खतरे की घंटी से कम नहीं है।  

जानकारों का कहना है कि अगर वन बेल्‍ट वन रोड के तहत बन रहे चीन-पाकिस्‍तान इकोनॉमिक कॉरीडोर यानी CPEC के 15 साल के मास्‍टर प्‍लान पर नजर डालें तो दूध का दूध और पानी का पानी होता नजर आ रहा है। इस प्रोजेक्‍ट के तहत तमाम ऐसी शर्तें हैं जिन्‍हें पाकिस्‍तान मान चुका है। उन शर्तों से आने वाले सालों में पाकिस्‍तान पर चीन का राज कायम हो सकता है। इस बात का डर अभी से पाक अधिकृत कश्‍मीर के लोगों को सता रहा है। लेकिन, पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की आंख पर चीन की पट्टी बंधी हुई है। हालांकि पाकिस्‍तान के विपक्षी दल भी कहते हैं कि नवाज शरीफ ने अपने निजी फायदे के लिए पाक अधिकृत कश्‍मीर को चीन के हवाले कर दिया है। क्‍या पाकिस्‍तान को बेचने के लिए उन्‍हें चीन से मोटा माल मिला है।  

जानकार बताते हैं कि CPEC और OBOR के जरिए चीन पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के तमाम महत्‍वपूर्ण  सेक्टरों और सोसाइटी पर अपनी पैठ बनाना चाहता है। अगले 15 सालों में पाकिस्‍तान के भीतर चीनी कंपनियों का वर्चस्‍व होगा। जिससे साफ है कि पाकिस्‍तान की अर्थव्‍यवस्‍था पूरी तरह चौपट हो जाएगी। अभी अमेरिका के रहमो-करम पर पल रहे पाकिस्‍तान को आने वाले वक्‍त में चीन का भी मुंह ताकना पड़ेगा। CPEC प्रोजेक्‍ट के तहत चीन ने पाकिस्‍तान के भीतर 62 अरब डॉलर के निवेश का एलान किया है। इस प्रोजेक्‍ट में चीन पाकिस्‍तान की  हजारों एकड़ कृषि भूमि को लीज पर लेगा। चीन की कंपनियां यहां पर सिंचाई टेक्निक और बीजों की किस्‍म को विकसित करेंगे।

चीन और पाकिस्‍तान मामलों के जानकारों का कहना है कि अभी चीन ने पाकिस्‍तान को जो सब्‍जबाग दिखाएं हैं उसे बस वही दिख रहा है। जबकि इस मास्‍टर प्‍लान के तहत चीन पेशावर से लेकर कराची तक के शहरों की 24 घंटे वीडियो रिकॉर्डिंग करेगा। मॉनिटरिंग और सर्विलांस का पूरा सिस्टम विकसित करेगा। चीनी मीडिया का भी दखल पाकिस्‍तान के भीतर बढ़ेगा। जाहिर है जब पाकिस्‍तान के भीतर चीन का इतना दखल बढ़ेगा तो यकीनन पाकिस्‍तान को हर चीज के लिए चीन का ही मुंह ताकना पड़ेगा। पाकिस्‍तान के भीतर बैठे तमाम राजनैतिक दलों और बुद्धजीवियों को भी अब चीन के इस तथाकथित विकास के पीछे की कहानी समझ में आने लगी है। जो उन्‍हें गुलामी की डगर पर ले जा रहा है।

आगे पढि़ए – चीन का सबसे खतरनाक दांव !

Click To Comment
Daily Horoscope
स्मार्टफोन की दुनिया में तहलका..ओपो लाया बेस्ट सेल फोन डील्स…धांसू फीचर्स !

स्मार्टफोन की दुनिया में तहलका..ओपो लाया बेस्ट सेल फोन डील्स…धांसू फीचर्स !

ओपो ने एक बार फिर से बेस्ट सेल फोन डील्स पेश की हैं। इस बार ये कंपनी A77 स्मार्टफोन लेकर आई है। कहा जा रहा है कि ये फोन शानदार है। पढ़िए ये खबर… New Delhi, May 20 : स्मार्टफोन की दुनिया में हर रोज कोई ना कोई कंपनी बड़ा काम कर रही है। इस बार ओपो ने बेस्ट सेल फोन डील्स पेश की हैं। ओपो ने A77 नाम से नया स्मार्टफोन लॉन्च किया है। आखिर इस स्मार्टफोन को लेकर…
नवरात्र में खाली पेट ना खाएं ये चीजें, ये दो चीजें खाने से होगा फायदा !

नवरात्र में खाली पेट ना खाएं ये चीजें, ये दो चीजें खाने से होगा फायदा !

डाइटीशियन के अनुसार नवरात्र के दौरान कुछ चीजों को नजरअंदाज करें, और कुछ चीजों पर विशेष ध्यान दें। New Delhi, Sep 25 : नवरात्र में लोग नौ दिनों का उपवास रखते हैं, इस दौरान खाली पेट रहने से पेट में एसिड का लेवल बढ जाता हगै, अगर इस समय एसिड लेवल बढाने वाली चीजें जैसे केला या फिर चाय पी लें, तो पेट की प्रॉब्लम बढ सकती है। डाइटीशियन के अनुसार इस दौरान कुछ चीजों को नजरअंदाज करें, और कुछ…
Ankush Kakkar

Ankush Kakkar

Ankush Kakkar | Ankush Kakkar is having 10 year Experience in Vedic astrology and Vastu Consultancy.Ankush Kakkar have an expertise in four different streams of astrology. These are Vedic, Lal Kitab, KP and Vastu Consultancy. All of these streams have their strengths and weaknesses. I have an extensive knowledge as to where to use which stream for a flawless prediction. Some are used in Horary Astrology and some are good in predicting Varshphal. You need not worry if you do not…