पीएम मोदी की मेहनत सफल…राफेल के बाद आया दुश्मनों का नया काल, बरसेंगे शोले !

पीएम मोदी तोप 1

पीएम मोदी की कोशिश आखिरकार कामयाब हो गई है। भारत को राफेल के बाद नया संहारक मिल गया है। इसकी मदद से चीन को काबू में किया जाएगा।

New Delhi, May 19: भारत के पड़ोसी देश लगातार खतरा उत्तपन्न कर रहे हैं। इसको देखते हुए भारतीय सेना के तीनों अंग कमर कस रहे हैं। एयरफोर्स ने तय किया है कि वो सीमा से सटे इलाकों में राफेल विमानों की तैनाती करेगी। फ्रांस से मिलने वाले राफेल 2019 तक भारत आएंगे। इन अत्याधुनिक लड़ाकू विमानों को अंबाला और बंगाल में तैनात किया जाएगा। अब भारत की ताकत को बढ़ाने के लिए एक और खबर सामने आई है। जी हां पीएम मोदी की कोशिशों और लंबे इंतजार के बाद भारत को एक और संहारक मिलने वाला है। बात कर रहे हैं हॉवित्जर तोपों के बारे में। ये तोपें भारत आ चुकी हैं।

Advertisement

एम-777 हॉवित्जर तोपें भारत आ चुकी हैं। पोखरण में इनका परीक्षण किया जाएगा। बोफोर्स के बाद भारत को एक नया हथियार मिल गया है। जो दुश्मनों के लिए काल से कम नहीं है। कहते हैं कि हॉवित्जर से गोले नहीं बल्कि आग के शोले निकलते पीएम मोदी तोप 1हैं, जो दुश्मनों को पल भर में खाक कर देते हैं। बता दें कि इन तोपों के लिए अमेरिका से समझौता किया गया था। अब 145 हॉवित्जर तोपें भारत आ चुकी हैं। ये डील 2900 करोड़़ रूपये में हुई थी। इसके तहत अमेरिका ने भारत को 145 तोपें दी हैं। ऑप्टिकल फायर कंट्रोल वाली हॉवित्ज़र तोप से 40 किलोमीटर दूर टारगेट पर सटीक निशाना साधा जा सकता है. ये तोप पूरी तरह से डिजिटल फायर कंट्रोल पर काम करती है। इस से एक मिनट में 5 राउंड फायर किए जा सकते हैं।

Advertisement

ये तोप बेहद हल्की होती है। इसस से पहाड़ी इलाकों में भारत को बढ़त मिलेगी। कश्मीर में ये खास तौर पर इस्तेमालव की जा सकती है। हॉवित्ज़र 155 एमएम की अकेली ऐसी तोप है जिसका वज़न 4200 किलो से कम है। इसके आने से भारतीय सेना कीपीएम मोदी तोप 1 ताकत कई गुना बढ़ गई है। इस तोप के लिए पीएम मोदी ने भी काफी कोशिश की थी। बता दें कि इस तोप का इस्तेमाल अमेरिका ने अफगानिस्तान में किया था। जहां पर इसने भीषण तरीके से तबाही मचाई थी। अब आपको बताते हैं कि इस तोप की और क्या खासियतें हैं। सबसे पहले तो ये दूसरी तोपों के मुकाबले काफी हल्की होती है। जिस कारण इसे आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है।

पीएम मोदी की रणनीति चीन को कंट्रोल करने की है। ये तोप चीन से निपटने में कारगर साबित हो सकती है। बताया जा रहा है कि भारत ये तोपें अपनी 17 माउंटेन कॉर्प्स में तैनात कर सकता है। बता दें कि 1980 के बाद से भारतीय सेना में कोई नई तोप पीएम मोदी तोप 1शामिल नहीं की गई है। हॉवित्जर के आने से ये कमी पूरी हो गई। बोफोर्स का अपग्रेडेड वर्जन धनुष भारत खुद तैयार कर रहा है। इसका फाइनल ट्रायल चल रहा है। पीएम मोदी लगातार सेना को सक्षम और मजबूत करने की दिशा में काम कर रहे हैं। हॉवित्जर के आने से सेना का मनोबल तो बढ़ेगा ही साथ में दुश्मनों की पतलून भी गीली हो जाएगी।

आगे पढ़ेंः हरीश साल्वे ने इन सबूतों से पाकिस्तान को इंटरनेशनल कोर्ट में घेरा, बगलें झांकने लगे पाकिस्तानी !

Click To Comment
Daily Horoscope
Micromax launches new smartphone at Rs.3,999

Micromax launches new smartphone at Rs.3,999

Micromax Smartphone New Delhi, Sep 22: Domestic handset-maker Micromax on Monday launched a new smartphone - Canvas Spark 2 - at a price of Rs.3,999. "The Canvas Spark proved to be a huge success for Micromax, selling over half a million units in less than two months of its launch. With the Canvas Spark 2, we are yet again reaffirming our commitment to increase the smartphone and Internet usage in the country," said its chief executive Vineet Taneja. "Currently, smartphone penetration…
Suffering from Alzheimer? A new study can help you

Suffering from Alzheimer? A new study can help you

New York, June 22 : An experimental drug has been found to protect Alzheimer's-inflicted mice from memory deterioration, despite a high-glycemic-index (GI) diet meant to boost blood sugar levels. The experimental drug from the US-based Eli Lilly and Company mimics the hunger-signalling hormone ghrelin. "The present results suggest that ghrelin might improve cognition in Alzheimer's disease via a central nervous system mechanism involving insulin signalling," authors of the study published in the journal Scientific Reports wrote. "With chronic diseases like diabetes…
Ankush Kakkar

Ankush Kakkar

Ankush Kakkar | Ankush Kakkar is having 10 year Experience in Vedic astrology and Vastu Consultancy.Ankush Kakkar have an expertise in four different streams of astrology. These are Vedic, Lal Kitab, KP and Vastu Consultancy. All of these streams have their strengths and weaknesses. I have an extensive knowledge as to where to use which stream for a flawless prediction. Some are used in Horary Astrology and some are good in predicting Varshphal. You need not worry if you do not…
Please enable JavaScript!