झारखंड में बीजेपी ने शुरु कर दी चुनावी तैयारी, यहां भी यूपी फॉर्मूला लगाने की तैयारी !

raghuvar-das-2

झारखंड : वैसे तो जमीन पर किसी को तैयारी नजर नहीं आ रही, लेकिन अंदर ही अंदर एक बड़ी टीम इस काम में लगी हुई है, ऐसे में सवाल ये उठता है कि आखिर ये सब कौन कर रहा है।

New Delhi, Sep 11 : झारखंड में अंदर ही अंदर विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरु हो चुकी है, वो भी पूरी गंभीरता के साथ। सत्ताधारी बीजेपी बाकि अन्य दलों से 4 कदम आगे निकलते हुए तैयारी शुरु कर दी है। आपको बता दें कि साल 2019 में लोकसभा के बाद झारखंड में विधानसभा चुनाव भी होने हैं, पूरी संभावना जताई जा रही है, कि बीजेपी यूपी विधानसभा चुनाव फॉर्मूला यहां भी अपनाये, यानी प्रदेश में 26 फीसदी आदिवासियों के बजाय 74 फीसदी गैर-आदिवासियों मतदाताओं को टारगेट किया जाए और उनसे वोट लिया जाए।

वैसे तो जमीन पर किसी को तैयारी नजर नहीं आ रही, लेकिन अंदर ही अंदर एक बड़ी टीम इस काम में लगी हुई है, ऐसे में सवाल ये उठता है कि आखिर ये सब कौन कर रहा है। इस समय बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का 3 दिनों के दौरे पर पहुंचना क्या इशारा कर रहा है, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी का पहुंचना यूं ही नहीं है। सब कुछ पर्दे के पीछे शुरु हो चुका है। चुनावी रणनीति में माहिर माने जाने वाले रजत सेठी ने कमान संभाल ली है। आपको बता दें कि ये वहीं रजत सेठी हैं, जिन्होने असम में कमल खिलाया था। झारखंड में तैयारी से जुड़े एक सूत्र का कहना है कि प्रदेश में महीने भर पहले एक सर्वे कराया गया था, जिसमें करीब 25 हजार लोगों से वीडियो सैंपल लिये गये।

इस सर्वे के अनुसार मास वोटर झारखंड सरकार से नाराज नहीं है, अगर बीजेपी इसे आधार बनाती है, तो वो फिलहाल लीड नहीं ले रही है। बाकी रही-सही कसर अगले डेढ साल में सरकार पूरा करने पर जोर लगा रही है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 15 सितंबर को झारखंड पहुंच रहे हैं, सीएम रघुबर दास जिला दर जिला घूमना शुरु कर चुके हैं। इस सर्वे में कमजोर और मजबूत सीटों का भी पता चल गया है, यानी अगर पार्टी नेतृत्व को किसी भी तरह का संकट दिखा, तो सिटिंग विधायकों के भी टिकट काटे जा सकते हैं, हालांकि अभी के हालात को देखकर लगता है कि ऐसे हालात नहीं आएंगे। फिलहाल बीजेपी के पास 38 सीटें है। सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर विधानसभा चुनाव किन मुद्दों पर लड़े जाएंगे, बीजेपी की रणनीति क्या होगा, जनता किन मुद्दों पर वोट करेगी। सर्वे में इन सवालों को भी टटोलने की कोशिश की गई।

संघ और बीजेपी हाईकमान इस बात पर भी विचार कर रहा है कि सीएम रघुबर दास के अलावा दूसरा चेहरा भी तैयार रखना होगा, क्योंकि झारखंड में गैर आदिवासी चेहरे के बदौलत ज्यादा दिनों तक सरकार नहीं चलाया जा सकता। इसके लिये सबसे पहली पसंद बाबूलाल मरांडी हो सकते हैं, लेकिन वो बीजेपी में नहीं हैं, जब से उन्होने पार्टी छोड़ी है, तब से हर महत्वपूर्ण मौकों पर उन्हें मनाने की कोशिश की गई, लेकिन सब कुछ तय होने के बाद भी वो बीजेपी में शामिल नहीं हुए। पिछले विधानसभा में भी उनके 8 विधायक थे, उनकी पार्टी के 6 विधायकों ने बीजेपी ज्वाइन कर लिया, लेकिन वो रह गये। नेतृत्व क्षमता, संघ की समझ और आदिवासी राज्य की जरुरत के अलावा वो मास लीडर भी माने जाते हैं, लेकिन संगठन से बाहर होने की वजह से वो कमजोर दिखते हैं।
मरांडी के अलावा खूंटी से विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा पर भी बीजेपी हाईकमान की नजर है, उनकी भी पहुंच जनमानस के बीच है। आदिवासी चेहरा होने के साथ-साथ वो बेदाग छवि के नेता भी माने जाते हैं, जो कि उनका मजबूत पक्ष है। हालांकि प्रशासनिक तौर पर वो पखर नहीं है, ये उनके लिये भारी पड़ सकता है। तीसरा अगर पूर्व सीएम अर्जुन मुंडा अगली बार विधानसभा चुनाव जीत जाते हैं, तो वो एक मजबूत दावेदार के तौर पर उभर सकते हैं, लेकिन आडवाणी कैंप के होने की वजह से शायद मोदी-शाह उन्हें कुर्सी पर ना बैठने दें, कुल मिलाकर एक बार बात फिर से रघुबर दास पर ही आकर रुक जाती है।

Read Also : लालू यादव ने साधा नीतीश कुमार पर निशाना, बोले बीजेपी ने दिखाया ठेंगा

Click To Comment
Daily Horoscope
Bill payment can be done through a selfie

Bill payment can be done through a selfie

  New York, July 4 :Paying bills can be fun, if you do it through Mastercard. You just need to click a selfie with your smartphone, blink once at your self-portrait and your bill is paid. That's with the help of a new mobile app that MasterCard has come up with, CNET.com reported. The app uses facial recognition to verify your identity. After downloading the app, you pay for things by simply looking at your phone and blinking once. The…
आज आपको बताते हैं कि आखिर क्यों बढ़ रहा है UTI का खतरा  

आज आपको बताते हैं कि आखिर क्यों बढ़ रहा है UTI का खतरा  

UTI यानि यूरेननरी ट्रेक्‍ट इंफेक्‍शन, पुरुषों और महिलाओं को होने वाली बहुत ही आम बीमारी है. हालांकि, पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में कहीं ज्‍यादा होता है. New Delhi, Nov 22 : UTI यानि यूरेननरी ट्रेक्‍ट इंफेक्‍शन, पुरुषों और महिलाओं को होने वाली बहुत ही आम बीमारी है. हालांकि, कई स्टडीज का कहना है कि, पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में UTI कहीं ज्‍यादा होता है. इसकी कई वजह हो सकती हैं और कुछ खास तरह के लोगों में ये बीमारी ज्‍यादा…
Acharya Kamal Kant

Acharya Kamal Kant

Acharya Kamal Kant | Astrology Expert With the his 25 years of experience Acharya Kamal Kant can tell you everything only by knowing your birth details. Acharya not only give right predictions but also helps with remedial ideas. Usually Astrologers know only one kind of Astrology. But Acharya has deep interest in the topic and this is why he managed to gain knowledge of four streams. On the basis of these four streams Acharya makes his Astro prediction, here’s the list…