राहुल गांधी की ‘मंत्री चालीसा’…2019 में भी नरेंद्र मोदी का जीतना तय !

rahul_gandhi, राहुल गांधी

पिछले तीन सालों से कांग्रेस को लगातार हार का मुंह देखना पड़ रहा है, राहुल गांधी जितनी कोशिश कर रहे हैं कांग्रेस गिरती जा रही है।

New Delhi, Apr 21 : पिछले तीन साल से कांग्रेस के लिए बुरा वक्त चला आ रहा है। केंद्र की सत्ता से हटने के बाद पार्टी एक-एक करके कई राज्यों में भी सत्ता से बाहर हो गई। ये वही वक्त है जब कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फ्री हैंड दे दिया। राहुल कांग्रेस के फैसले लेने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन उन्होंने कांग्रेस को मजबूत करने की जितनी भी कोशिश की, पार्टी उतनी ही कमजोर होती गई। मोदी लहर का मुकाबला कर पाने में कांग्रेस नाकाम रही है और हाल में संपन्न पांच राज्यों के चुनाव में पार्टी की और भी बुरी स्थिति हो गई। बहरहाल राहुल गांधी ने एक बार फिर से कोशिश शुरू की है और खबर है कि राहुल गांधी ने लगातार हार के सिलसिले को तोड़ने के लिए ‘सुपर 40’ का गठन किया है।

Read Also : 14 मई से मोदी का ‘एक्शन रीलोडेड’… 8 राज्यों से शुरू होगी कामयाबी की नई दास्तान !

कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अगले दो सालों में होने वाले 6 राज्यों के चुनाव के लिए देश भर से 40 नेताओं की टीम को बूथ स्तर पर पार्टी के लिए जमीन तैयार करने का काम दिया है। बताया जा रहा है कि राहुल गांधी ने इन नेताओं से बाकायदा लिखकर वायदा लिया है कि वे इस काम के लिए महीने में कितने दिन दे सकते है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने इनसे दो टूक कहा है कि अगर आप समय नहीं दे सकते तो उन्हें बिना झिझक के कह सकते है, इसमें कोई बुराई नहीं है, लेकिन उन्हें ऐसे लोगों की टीम चाहिए जो इस काम के लिए अपना समय दे सकें। इस सुपर 40 टीम का काम पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम देखेंगे।

Read Also : बाबरी मामले में अदालत का आदेश बीजेपी और पीएम मोदी-शाह के लिए फायदेमंद है?

वापसी के लिए बेसब्र हो रहे राहुल गांधी ने इस टीम के गठन के लिए मंगलवार को देर शाम विशेष बैठक बुलाई थी, इसमें देश भर से 40 लोग आए थे। उत्तर प्रदेश से राजेश मिश्र, अनुग्रह नारायण सिंह, हरियाणा से दीपेंद्र हुड्डा, राजस्थान से जुबेर अहमद, आंध्र प्रदेश से पल्लम राजू, असम से सुष्मिता देव, असम से ही राणा गोस्वामी समेत कई लोग थे। इस बैठक में राहुल गांधी ने कहा इन नेताओं की विश्वसनीयता पर उन्हें पूरा भरोसा है। उन्होंने सवाल पूछा कि ‘आप मुझे कितना समय दे सकते है, इस साल और अगले कई चुनाव हैं’। खबर है कि उन्होंने कागज पर लिखवा कर लिया कि कांग्रेस के ये नेता महीने में अपने कितने दिन कांग्रेस को मजबूत करने के इस काम को देंगे।

Read Also : कश्मीर को लेकर चढ़ने लगा है पीएम मोदी का पारा… छूटेंगे अलगाववादियों के पसीने !

इस बैठक का संचालन पी चिदंबरम ने किया। उन्होंने देश भर से आए हुए कांग्रेस नेताओं से कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष आप लोगों को नई जिम्मेदारी देने जा रहे हैं। इसके बाद 40 लोगों की इस टीम को राहुल गांधी ने अगले 6 महीने में आगामी चुनाव वाले राज्यों में बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत करने की जिम्मेदारी सौंपी। कहा गया कि इन्हें प्रदेश कांग्रेस कमेटी से समन्वय बनाकर चार से पांच लोगों की टीम बनानी चाहिए। बताते चलें कि इस साल हिमाचल प्रदेश, गुजरात और कर्नाटक में चुनाव होने है। वहीं अगले साल मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी विधानसभा चुनाव होने हैं। हिमाचल और कर्नाटक कांग्रेस की सरकारें हैं। कांग्रेस का प्रदर्शन अगर इन चुनावों में खराब रहता है तो जाहिर है 2019 के लोकसभा चुनाव में भी इसका बुरा असर पड़ेगा। इसीलिए राहुल गांधी ने अभी से इसकी तैयारी करना शुरू कर दिया है। राहुल ने अगले 15 दिनों में फिर ऐसी बैठक बुलाने के लिए कहा है। इसके अलावा वो तमाम राज्यों में क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन की भी संभावना तलाश रहे हैं ताकि अजेय हो चुकी मोदी लहर का किसी तरह से भी मुकाबला तो किया जा सके।

Read Also : पीएम मोदी के इस दांव से विरोधी हुए चारों खाने चित… छिन लिया एक बड़ा मुद्दा !

Click To Comment
Daily Horoscope
Now, easy to buy TV-like ads for Facebook !

Now, easy to buy TV-like ads for Facebook !

New Delhi, Apr 23 : Now, buying ad on Facebook has become more easier than ever with the help social media website that introducing a familiar terminology for broadcast advertisers, making the purchase easy and more TV-like. Target rating point video buys on Facebook or photo-sharing website Instagram can now leverage day-parting and Nielsen Designated Market Area (DMA) targeting -- two features that were previously unavailable -- www.adage.com reported. DMAs are defined by Nielsen Media Research and are used to identify specific…
कहीं Migrane ना बन जाए हार्ट अटैक की वजह !

कहीं Migrane ना बन जाए हार्ट अटैक की वजह !

ज्यादातर देखा गया है कि Migrane से पीडि़त महिलाओं में स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा धीरे-धीरे बढ़ता है New Delhi, Jun 9 : ये खबर चिंता का विषय बन सकती है उनके लिए जिन्हे Migrane की तकलीफ से गुजरना पड़ता है, ऐसा इसलिए क्‍योंकि दर्दनाक बीमारी माइग्रेन अपने साथ हार्ट अटैक का खतरा लेकर आती है. जानकारों का कहना है कि इस स्टडी से जानकारी मिली है कि Migrane को हृदय संबंधी रोगों के विषय में एक गंभीर खतरे…
Ankush Kakkar

Ankush Kakkar

Ankush Kakkar | Ankush Kakkar is having 10 year Experience in Vedic astrology and Vastu Consultancy.Ankush Kakkar have an expertise in four different streams of astrology. These are Vedic, Lal Kitab, KP and Vastu Consultancy. All of these streams have their strengths and weaknesses. I have an extensive knowledge as to where to use which stream for a flawless prediction. Some are used in Horary Astrology and some are good in predicting Varshphal. You need not worry if you do not…