संसद का मानसून सत्र : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया GST का नया नामकरण !

Modi, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

सोमवार से संसद का मानसून सत्र शुुरु हो गया है। सत्र से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीडिया को संबोधित किया और GST का नया नामकरण किया।

New Delhi Jul 17 : संसद का मानसून सत्र शुरु हो चुका है। पूरा का पूरा विपक्ष कई मसलों पर सरकार को घेरने की रणनीति बना रहा है। माना जा रहा है कि विपक्ष सरकार को कश्‍मीर, चीन, गौरक्षकों की गुंडागर्दी और GST के मसले पर घेर सकता है। बहरहाल, सरकार भी हर मसले का जवाब देने को तैयार है। सोमवार को संसद के मानसून सत्र के शुरु होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान उन्‍होंने GST का नया मतलब भी लोगों को समझाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना था कि GST के कारण इस बार संसद में नई उमंग है। उनका कहा है कि जीएसटी एक साथ काम करने का दूसरा नाम है। प्रधानमंत्री ने कहा कि GST का मतलब गोइंग स्ट्रोंगर टुगेदर है।

Advertisement

उन्‍होंने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि GST का मतलब एक साथ मजबूती से बढ़ना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि संसद के मानसून सत्र में किसानों को नमन है। उन्होंने कहा कि इसी सत्र में नया राष्‍ट्रपति चुना जाएगा। मोदी का कहना है कि संसद में हम सभी मिलकर राष्‍ट्रहित में चर्चा करेंगे। सोमवार को नए राष्‍ट्रपति के चयन के लिए मतदान भी जारी है। जहां एक ओर सरकार को विपक्ष से संसद के मानसून सत्र में कार्यवाही के दौरान सकारात्‍मक रवैये की उम्‍मीद है। वहीं दूसरी ओर विपक्ष सरकार को कई मसले पर घेरने की कोशिशों में जुट गया है। बताया जा रहा है कि विपक्ष सबसे ज्‍यादा कश्‍मीर, चीन और गौरक्षा के नाम पर होने वाली गुंडागर्दी को लेकर संसद में हंगामा कर सकता है।

Advertisement

संसद में मानसून सत्र से पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक भी बुलाई थी। इस मीटिंग में प्रधानमंत्री ने गौरक्षा के नाम पर हो रही गुंडागर्दी को लेकर बहुत ही कड़ा रुख अपनाया था। सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा था कि गौरक्षा के नाम पर असामाजिक लोग हिंसा कर रहे हैं। जिसे किसी भी सूरत में बर्दास्‍त नहीं किया जा सकता। इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ राज्‍य सरकारों को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। उन्‍होंने कहा था कि देश में गऊ माता की रक्षा होनी चाहिए। उसके लिए कानून भी बने हैं। लेकिन, किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जा सकती है। जो लोग इसका नाजायज फायदा उठा रहे हैं। उस पर कार्रवाई होनी चाहिए।

संसद के मानसून सत्र से पहले मीडिया को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्‍ट्रपति चुनाव पर भी बयान दिया। उन्‍होंने इस चुनाव को लेकर सभी दलों का धन्‍यवाद किया और कहा कि अगर इस मुददे पर आम सहमति बनती तो और भी अच्‍छा रहता। इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि हालांकि इस चुनाव को लेकर आपस में अब तक किसी के बीच भी कटुता का भाव नहीं आया है। इसके लिए भी सभी दल के लोग बधाई के पात्र हैं। संसद के मानसून सत्र में मंगलवार से सदन का काम सुचारु रुप से चलेगा। दरअसल, सत्र के पहले दिन सदन में स्‍थायी काम नहीं होता है। पहले दिन सदन के दिवंगत सदस्‍यों को श्रद्धांजलि देकर सदन की कार्यवाही को स्‍थ‍गति कर दिया जाता है।

आगे पढि़ए – पीएम मोदी ने फिर दी चेतावनी

Click To Comment
Daily Horoscope
मोबाइल मार्केट में मोटो की धमक…दुनिया का सबसे पतला और पावरफुल फोन लॉन्च !

मोबाइल मार्केट में मोटो की धमक…दुनिया का सबसे पतला और पावरफुल फोन लॉन्च !

  मोबाइल मार्केट में मोटारोला ने धमाका कर दिया है। इसके साथ ही मोटारोला ने दुनिया सबसे पतला और पॉवर फुल फोन लॉन्च कर दिया है। हैरान रह जाएंगे आप... New Delhi,Oct 05 : आप मोबाइल मार्केट में किस तरह के फोन सर्च करते हैं। जाहिर है एक ऐसा फोन जो कीमत के माले में सस्ता हो और क्वॉलिटी के मामले में महंगा लगे। तो लीजिए आपके लिए एक फोन आया है जो दुनिया का सबसे पावरफुल फोन कहा जा…
आलिया भट्ट की फिटनेस के 5 TOP Tips, You must follow

आलिया भट्ट की फिटनेस के 5 TOP Tips, You must follow

भट्ट खानदान का नाम रोशन कर रहीं आलिया भट्ट फिटनेस को लेकर खासी कॉन्शियस रहती हैं । आलिया ने शेयर किए है वेट मैनेजमेंट को लेकर अपने कुछ खास सीक्रेट्स । New Delhi, Jul 06 : आलिया भट्ट की फिटनेस का राज खुद उन्‍होने एक इंटरव्‍यू के दौरान खोला है । करीना की डायट एक्‍सपर्ट रुजुता दिवाकर की मदद से आलिया अब हैल्‍दी लाइफस्‍टाइल जी रही हैं । उनके मुताबिक कुछ सालों पहले तक उन्‍हें खाने को लेकर जो परेशानी…
J K Sethi

J K Sethi

J K Sethi | J K Sethi Ji is as an Indian Vedic Astrologer and learnt astrology from India's renowned institutions & worldwide famous Astrologer and conferred the title of "Jyotish Shiromani", "Jyotish Visharad" & "Jyotish Kovid" from various institutions of India, practicing Systems Approach to Vedic Astrology (Hindu system of Astrology) since last decade. Life member of Indian Council of Astrological Sciences (ICAS), Madras, Member of International Institute of Predictive Astrology (IIPA), Satva, Systems Institute of Hindu Astrology. He has been participating in many consultation clinics…
Please enable JavaScript!