राहुल गांधी अगले महीने संभालेंगे बड़ी जिम्मेदारी, ये हो सकती है आगे की रणनीति !

राहुल गांधी ने ये संवाद तब किया है, जब माना जा रहा है कि अक्टूबर में वो आधिकारिक तौर पर पार्टी की जिम्मेदारी अपने हाथों में लेंगे, इससे पहले वो अपनी छवि दुरुस्त करना चाहते हैं।

New Delhi, Sep 13 : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का अमेरिका जाना, वहां संवाद करना, उनके टीम के भविष्य की रणनीति का हिस्सा है। कांग्रेस उपाध्यक्ष द्वारा अमेरिका में दिये गये बयान और सवालों के जवाब इशारा कर रहे हैं कि उनकी आगे की रणनीति किस दिशा में जाने वाली है। राहुल गांधी ने अपने संवाद में पार्टी अध्यक्ष की कुर्सी हो या फिर पीएम पद की उम्मीदवारी दोनों तरफ ही संकेत दे दिया है कि वो तैयार हैं, ये सब कुछ यूं ही नहीं हुआ है, इसके पीछे मोदी विरोध की राजनीति, नीतीश कुमार से अलग होना और भविष्य के लिहाज से कांग्रेस उपाध्यक्ष का तैयार होना है।

राहुल गांधी ने ये संवाद तब किया है, जब माना जा रहा है कि अक्टूबर में वो आधिकारिक तौर पर पार्टी की जिम्मेदारी अपने हाथों में लेंगे, इससे पहले वो अपनी छवि दुरुस्त करना चाहते हैं, वो नेहरु-गांधी परिवार की विरासत को संभालना चाहते हैं, लेकिन बोझ नहीं ढोना चाहते, यही वजह रही कि राहुल ने सिख दंगों पर अपनी राय जाहिर करते हुए खुद को पीड़ितों के साथ बताते हुए, उस घटना को गलत बताया। इतना ही नहीं उन्होने सोनिया गांधी के कार्यकाल पर भी सवाल उठाये, उन्होने कहा कि 2012 के बाद कांग्रेस अहंकारी हो गई, वो आम लोगों से संवाद नहीं कर पा रही थी। इसके बाद तो सभी जानते हैं कि 2014 में यूपीए सरकार भ्रष्टाचार की वजह से बदनाम हुई, जिसकी वजह से पार्टी 44 सीटों पर आ गई।

राहुल गांधी के रणनीतिकारों की निगाह सिर्फ कांग्रेस अध्यक्ष पद पर ही नहीं है, बल्कि पीएम उम्मीदवार बनाकर राहुल गांधी को सोनिया के बजाय विपक्ष के नेता के तौर पर स्थापित करने की है। इसी वजह से राहुल गांधी ने पीएम पद उम्मीदवारी पर सीधे संकेत दे दिये, इसके लिये भी उनके रणनीतिकारों ने पूरी तैयारी कर ली थी, वो जानते हैं कि कांग्रेस विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन विपक्ष के नेता के तौर पर उन्हें दूसरी पार्टी के नेताओं का भी सहयोग चाहिये होगा। ये बात किसी से छुपी नहीं है कि नीतीश कुमार के विपक्ष में रहते राहुल असमंजस में थे, उनके करीबियों के अनुसार नीतीश कुमार को पीएम उम्मीदवार बनाने तक को राहुल तैयार थे, लेकिन नीतीश ने ऐन मौके पर ही साथ छोड़ दिया, जिससे राहुल गांधी को नई रणनीति के साथ सामने आने पर मजबूर होना पड़ा।

टीम राहुल का मानना है कि सियासी हालात देशभर में बदल रहे हैं, अब नीतीश कुमार मोदी के साथ हैं, तो तमाम प्रदेशों में भी क्षेत्रीय दलों की कमान नई पीढी संभाल रही है, Rahul Gandhiजिससे राहुल गांधी लगातार संपर्क बना रहे हैं, वो राहुल को अपना नेता मानने में परहेज नहीं करने वाली, उनके रणनीतिकारों के अनुसार राज्य स्तर पर रणनीति बनानी होगी, तभी मोदी से मुकाबला किया जा सकता है।

Read Also : पहली बार देश के किसी मस्जिद में जाएंगे पीएम मोदी, जापानी प्रधानमंत्री को करेंगे गाइड !

Click To Comment
Daily Horoscope
रिलायंस जियो को रौंदने की तैयारी, सभी टेलिकॉम कंपनियां बना रही हैं ऐसा प्लान

रिलायंस जियो को रौंदने की तैयारी, सभी टेलिकॉम कंपनियां बना रही हैं ऐसा प्लान

रिलायंस जियो की बढ़ती ताकत को रोकने के लिए तमाम कंपनियां नई नई प्लानिंग कर रही हैं। इस बीच एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है। आप भी पढ़िए.. New Delhi, Jul 14 : इस वक्त देशभर में रिलायंस जियो अपनी अलग ही छाप छोड़ रहा है। जिसे देखिए वो जियो के बारे में चर्चा कर रहा है। दरअसल इस कंपनी ने फ्री कॉलिंग और फ्री डेटा के जरिए जिस तरह की प्लानिंग की है, वो बेहतरीन है। ऐसे…
Why HIV progresses slowly in some people

Why HIV progresses slowly in some people

Toronto, July 19 : Even in the absence of HIV therapy, some HIV-infected people may not suffer from AIDS for many years due to enhanced cholesterol metabolism in certain immune cells, which is an inherited trait, shows research. The findings may lead to potential development of new approaches to control HIV infection by regulating cellular cholesterol metabolism. "We have known for two decades that some people do not have the dramatic loss in their T cells and progression to AIDS that…
Vineeta Srivastava 

Vineeta Srivastava 

Vineeta Srivastava  | Astrologer, Tarot Card Reader and Vaastu Consultant Mrs. Vineeta Srivastava  is a qualified (M.A. in Astro science) Astrologer, Tarot Card Reader and Vaastu Consultant who gives accurate future readings through a medium of  Vaidik ,KP Astrology and Tarot Cards .  In her views Astrology is not based on Superstition, it actually based on Planetary positions and time. She is a Professional Certified Consultant who also uses her intuition to offer guidance to all of her clients, encouraging them to move in a positive direction and face…