आईआईटी से पढाई, फिर जापानी लड़की से शादी, अब संभालेंगे बुलेट ट्रेन का जिम्मा !

Sanjeev sinha1

संजीव के पिता वीरेन्द्र सिन्हा ने कहा कि उनके बेटे की कामयाबी पर पूरे देश को फ्रख है, उन्होने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उनका बेटा देश की पहली बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का सलाहकार बनेगा।

New Delhi, Sep 14 : देश की पहली बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के सलाहकार बनें आईआईटीयन संजीव सिन्हा राजस्थान के बाड़मेर के रहने वाले हैं, उनकी पहली ही कोशिश में आईआईटी मे चयन हो गया था, पिता ग्रिफ में नौकरी करते थे, लेकिन तनख्वाह कम होने की वजह से बैंक से लोन लेकर बेटे की पढाई पूरी करवाई। बाड़मेर जिले के पहले आईआईटीयन बनें संजीव ने अपनी मां से किया 25 साल पहले के वादे को अब पूरा कर दिखाया है।

आपको बता दें कि बाड़मेर की अंबेडकर कॉलोनी निवासी वीरेन्द्र सिन्हा के दो बेटे संजीव और राजीव हैं, राजीव सूरत के एक बैंक में एजीएम के पद पर कार्यरत हैं, उनकी मां उषा रानी का 14 साल पहले ही निधन हो गया, अब पिता वीरेन्द्र सिन्हा अकेले रहते हैं, वो जून में ही संजीव से मिलने टोक्यो गये थे, वहां एक महीने गुजारने के बाद वापस राजस्थान लौट आये। संजीव सिन्हा ने जापान में ही शादी कर ली, उनकी एक बेटी भी है। देश की पहली बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर करीब 1 लाख करोड़ रुपये खर्च होंगे, इस प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी जापान रेलवे ने संजीव के युवा कंधों पर दी है। अहमदाबाद-मुंबई हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट के लिये उन्हें सलाहकार नियुक्त किया गया है।

इस महत्वाकांक्षी योजना का भूमिपूजन अहमदाबाद में आज जापान के पीएम और नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में होना है, ये प्रोजेक्ट साल 2023 तक पूरा करने का टारगेट है। Sanjeev sinhaसंजीव के पिता वीरेन्द्र सिन्हा ने कहा कि उनके बेटे की कामयाबी पर पूरे देश को फ्रख है, उन्होने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उनका बेटा देश की पहली बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का सलाहकार बनेगा।

संजीव के बारे में बताते हुए उन्होने कहा कि वो बचपन से ही जिद्दी हैं, शुरुआती पढाई से ही उनका परफॉरमेंस बेहतरीन था, वो दसवीं बोर्ड में टॉपर थे, तो बारहवीं में स्टेट में 8वें नंबर पर। फिर आईआईटी में पहली ही कोशिश में चयन हो गया, कानपुर में पांच साल मेहनत करने के बाद वो जापान चले गये, वहां पर कई कंपनियों में काम करने के बाद टाटा में एग्जिक्यूटिव बनें। मालूम हो कि राजस्थान के बाड़मेर जिले के पहले आईआईटीयन बनने का रिकार्ड संजीव के नाम दर्ज है, उनका जन्म 21 जनवरी 1973 को बाड़मेर में ही हुआ था। खास बात ये भी है कि उन्होने पढाई के दौरान कभी कोचिंग नहीं ली, सेल्फ स्टडी के जरिये ही उन्होने हमेशा पढाई की और अव्वल रहे।

Read Also : चीन को भारत का जवाब है ‘माउंटेन रेजीमेंट’,मोदी के महाबली का हाहाकारी ऐलान !

Click To Comment
Daily Horoscope
टाटा ने पेश की शानदार एसयूवी, भारत में लॉन्च होते ही मची धूम !

टाटा ने पेश की शानदार एसयूवी, भारत में लॉन्च होते ही मची धूम !

टाटा ने एक बेहतरीन एसयूवी लॉन्च की है। इस गाड़ी के कहा जा रहा है कि ये आने वाले वक्त में बिक्री के रिकॉर्ड्स अपने नाम कर सकती है। New Delhi, Sep 21 : टाटा ने हाल ही में भारत में अपनी नई एसयूवी लॉन्च कर डाली है। इस SUV का नाम है 'नेक्सॉन'। काफी वक्त से लोगों को इस SUV का इंतजार था।  2016 आॅटो एक्सपो में इसे पेश किया गया था। 11 सितंबर से इस SUV की बुकिंग्स…
कल क्‍या खाया था भूल गए? … बादाम नहीं ये खाया करो, याद्दाश्‍त बढ़ाने वाले 10 Best Food

कल क्‍या खाया था भूल गए? … बादाम नहीं ये खाया करो, याद्दाश्‍त बढ़ाने वाले 10 Best Food

अगर आप भी चाहते हैं आपको दिमाग पर जोर ना देना पड़े, याद्दाश्‍त अच्‍छी हो जाए तो ये कुछ चीजें हैं जिन्‍हें खाने से मैमोरी तेज होती है । New Delhi, Apr 16 : आजकल की जीवनशैली में हम ये तक भूल जाते हैं कि हमने कल क्‍या खाया था । दिमाग पर जोर लगाना पड़ता है तब याद आता है । आखिर ऐसा क्‍यों हो रहा है, क्‍या हम किसी बीमारी के शिकार हो रहे हैं । नहीं, ऐसा…
Pandit Parsai

Pandit Parsai

Pandit Parsai | Astrology Expert Pandit Parsai is an expert on subjects of human life including relationships, love-life, marriage, progeny, choice of education and career, luck in politics, troubles and rise in profession, problems of health, finance, real-estate, success in business, industry, profession or self-employment, litigation loss/gain of money and much more. He has gained over the years wide reputation in India, USA, Canada, United Kingdom, Europe and Australia, for his correct calculations for birth chart and other astrological charts and…