लड़ें, अब नोटबंदी के इस भस्मासुर से!- Ved Pratap Vaidik

Ved Pratap vaidik, France, Pakistan, Mohan Bhagwat, Budget, Uttarakhand, Congress, आनंदीबेन, मोदी, कश्मीर, पाकिस्तान, राहुल गांधी, मायावती, अखिलेश, शादी भगवान, शिक्षा, वंदे मातरम, हिंदी

नवंबर-दिसंबर 2016 में नोटबंदी के कारण कितने लोग बेरोजगार हो गए हैं, कितना व्यापार बैठ गया है और सरकारी खर्च कितना ज्यादा बढ़ गया है।

New Delhi, Jan 11 : एक तरफ नरेंद्र मोदी नोटबंदी का विरोध करने वालों को काला धन-पुजारी घोषित कर रहे हैं, दूसरी तरफ नोटबंदी की काली करतूतें रोज उजागर होती जा रही हैं। सरकार को आशा थी कि कम से कम तीन लाख करोड़ रु. का लाभ उसको होगा, क्योंकि लोग कम से कम इतने काले धने के नोटों को तो जला ही देंगे लेकिन ताजा अनुमान यह है कि अब सिर्फ 75 हजार करोड़ के पुराने नोट ही लोगों के पास हैं। ये भी 31 मार्च तक जमा हो सकते हैं, क्योंकि इतना पैसा तो हमारे डेढ़ करोड़ प्रवासी भारतीयों के पास ही हो सकता है। इसके अलावा नेपाल, मोरिशस, अफगानिस्तान तथा अन्य पड़ौसी देशों में भी भारतीय मुद्रा चलती है। वह भी वापस आएगी।

Read Also : Live Video : लंदन से लौटने के बाद मोदी को लेकर फ्रस्टेशन में नजर आए राहुल गांधी !

अर्थात सरकार नोटबंदी से जो फायदा सेंत-मेंत में उठाना चाहती थी, उसका वह सपना चूर-चूर हो गया है। अब वह अपनी सारी ताकत बैंकों के चोर-खातों को पकड़ने में लगाएगी। देखें, उसमें से कितना पैसा उसके हाथ लगता है। लेकिन ज्यादा चिंता की बात ताजा आंकड़े हैं, जो कह रहे हैं कि नवंबर-दिसंबर 2016 में नोटबंदी के कारण कितने लोग बेरोजगार हो गए हैं, कितना व्यापार बैठ गया है और सरकारी खर्च कितना ज्यादा बढ़ गया है।
देश का सकल उत्पाद (जीडीपी) तो 0.5 प्रतिशत घट ही गया है, उसके अलावा देश के लघु-उद्योगों में 35 प्रतिशत मजूदरों का रोजगार खत्म हो गया है और इन उद्योगों की आमदनी 50 प्रतिशत घट गई है। इसका एक बुरा परिणाम यह भी हुआ है कि मजदूर लोग भाग-भागकर अपने गांवों में शरण ले रहे हैं। वे वहां जाकर महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार योजना के तहत लंबी-लंबी लाइनें लगा रहे हैं।

Read Also : पीएम मोदी को वर्ल्ड बैंक ने दिया बड़ा धोखा… बड़े मिशन पर खड़े कर दिए सवाल…

नवंबर 2016 में इन ग्रामीण मजदूरों की संख्या प्रतिदिन 30 लाख होती थी। अब जनवरी 2017 में वह बढ़कर 83 लाख हो गई है। हर मजदूर को सरकार एक दिन के 272 रु. देती है। 500 Note, नोट, नोटबंदीअब जरा अंदाज लगाइए कि सरकार को अरबों रु. महिने की चपत लग रही है या नहीं? इसके लिए कौन जिम्मेदार है? नोटबंदी !

Read Also : जो 2014 में मोदी ने किया, उसी को अखिलेश दुहरा रहे हैं- Prabhat Dabral

नोटबंदी के हवाई फायदे गिना कर आम लोगों को भरमाने की बजाय बेहतर होगा कि मोदी विनम्रतापूर्वक अपनी गलती स्वीकार करें और लोगों से माफी मांगें। सरकार की पूरी ताकत इस समय नोटबंदी के भस्मासुर से लड़ने में लगनी चाहिए। noteजनता सरकार का साथ देगी, क्योंकि उसे विश्वास है कि सरकार ने यह नोटबंदी अच्छे इरादे से की थी लेकिन कई कारणों से यह विफल हो गई। लोगों ने नोटों को नहीं, नोटबंदी को रद्द कर दिया।

(वरिष्ठ पत्रकार एवं स्तंभकार डॉ. वेद प्रताप वैदिक के ब्लॉग से साभार, ये लेखक के निजी विचार हैं)

Read Also : दिल्ली में नर्सरी एडमिशन का दौर शुरू, आपने फॉर्म भरा ?

Click To Comment
Daily Horoscope
दुनिया के 90 देशों में साइबर अटैक से हाहाकार … ऐसे पहचानें दुश्मन के नापाक इरादे !

दुनिया के 90 देशों में साइबर अटैक से हाहाकार … ऐसे पहचानें दुश्मन के नापाक इरादे !

दुनिया के 90 देशों में साइबर अटैक से हाहाकार मचा है। अब हिंदुस्तान को भी सावधान रहने की जरूरत है। आप इस तरह से साइबर हमले को पहचान सकते हैं। New Delhi, May 14 : क्या आप जानते हैं कि दुनिया के 90 देशों में साइबर अटैक से हंगामा मचा हुआ है। इन 90 मुल्कों पर फिरौती से मकसद से साइबर हमला हुआ है। इन देशों के अस्पतालों और कंपनियों को हैकर्स ने अपना निशाना बनाया है। इस हमले को…
Why males are at higher risk of autism ?

Why males are at higher risk of autism ?

New York, Dec 12 : Female infants have larger volumes of grey matter around the temporal-parietal junction of the brain than males at the time of birth, a new study has found. The temporal-parietal junction, or TP, which is found under the temporal bones near the ears, integrates the processing of social information as expressed in others' faces and voices, a function that is impaired in those with autism spectrum disorders. Sex differences in this area of the brain may be…
Ankush Kakkar

Ankush Kakkar

Ankush Kakkar | Ankush Kakkar is having 10 year Experience in Vedic astrology and Vastu Consultancy.Ankush Kakkar have an expertise in four different streams of astrology. These are Vedic, Lal Kitab, KP and Vastu Consultancy. All of these streams have their strengths and weaknesses. I have an extensive knowledge as to where to use which stream for a flawless prediction. Some are used in Horary Astrology and some are good in predicting Varshphal. You need not worry if you do not…