बीजेपी की एक और कामयाबी…मणिपुर में बीरेन सिंह ने साबित किया बहुमत

बीरेन सिंह मणिपुर

मणिपुर से बीजेपी के लिए अच्छी खबर निकल कर आ रही है। एन बीरेन सिंह ने विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया है। कांग्रेस देखती ही रह गई और भाजपा ने बाजी मार ली।

New Delhi, Mar 20: देश में बीजेपी शासित राज्यों की लिस्ट में मणिपुर हाल ही में शामिल हुआ था। पूर्वोत्तर के राज्यों में भाजपा की लगातार बढ़ती मौजूदगी से कांग्रेस परेशान है। गोवा और मणिपुर में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी थी। लेकिन उसके बाद भी दोनों ही राज्य कांग्रेस के हाथ से निकल गए। कांग्रेस दोनों ही राज्यों में सरकार बना पाने में नाकाम रही। गोवा में बीजेपी ने गठबंधन करके सरकार बनाई और विधानसभा में बहुमत साबित किया। इसी के साथ अब मणिपुर में भी बीजेपी ने बहुमत साबित कर दिया है। सोमवार को मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया। बता दें कि मणिपुर में पहली बार भाजपा की सरकार बनी है। इस से पहले पिछले 10 सालों से कांग्रेस सूबे में सरकार चला रही थी।

Read Also: चिदंबरम का भी राहुल से भरोसा टूटा? बोले बीजेपी के मुकाबले कांग्रेस का सांगठनिक ढांचा कहीं नहीं ठहरता !

मणिपुर विधानसभा चुनाव में बीजेपी दूसरे नंबर पर थी। उसे 60 में से 21 सीटें मिली थी। वहीं कांग्रेस 28 सीटों का साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। उसके बाद भी कांग्रेस बहुमत के लिए जरूरी 3 विधायकों का समर्थन हासिल नहीं कर पाई। बीजेपी ने राज्य में बहुमत के लिए क्षेत्रीय दलों से बात नतीजे आने के बाद ही शुरू कर दी थी। भारतीय जनता पार्टी ने एनपीएफ और नागा पीपुल्स पार्टी के 4-4 विधायकों के समर्थन से विधानसभा में बहुमत साबित किया। इस तरह गोवा के बाद मणिपुर में भी दूसरे नंबर पर रहने के बाद भाजपा ने सरकार बना ली है। विधानसभा में बहुमत के लिए 31 विधायकों की जरूरत थी। कांग्रेस ने बहुमत हासिल करने के बाद भी भाजपा पर निशाना साधा। कांग्रेस ने कहा कि भाजपा ने पैसों का इस्तेमाल करके सरकार बनाई है।

Read Also:मणिपुर में बीजेपी सरकार बनने के बाद बड़ी खबर, 5 महीने से चल रही नाकेबंदी खत्म !

चलिए आपको बताते हैं कि भाजपा ने बहुमत के लिए जरूरी आंकड़े कैसे जुटाए। बीजेपी के पास 21 सीटें हैं। एनपीएफ और नागा पीपुल्स पार्टी के 4-4 विधायकों का समर्थन भाजपा को मिला। उसके साथ ही तृणमूल कांग्रेस और लोजपा के 1-1 विधायक और 1 निर्दलीय विधायक ने भी बीजेपी को समर्थन दिया। इस तरह से भाजपा के पास कुल 32 विधायक हो गए और उसने आसानी से विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर दिया। बता दें कि भाजपा ने एन बीरेन सिंह को मणिपुर में मुख्यमंत्री बनाया है। 56 साल के बीरेन सिंह राष्ट्रीय स्तर के फुटबॉल खिलाड़ी रह चुके हैं। इसके अलावा वो पत्रकार भी रह चुके हैं। बीरेन सिंह का सियासी सफर 2002 में डेमोक्रेटिक पीपुल्स पार्टी के साथ शुरू हुआ था।

Read Also:मणिपुर में भी प्रचंड मोदी लहर, बीजेपी ने उखाड़ फेंका कांग्रेस का आखिरी किला !

सबसे खास बात ये है कि बीरेनसिंह पिछले साल अक्टूबर में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आ गए थे। और अब वो प्रदेश के मुख्यमंत्री बन गए हैं। बता दें कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने के साथ ही बदलाव दिखने लगा है। पिछले कई महीनों से जारी नाकेबंदी को खत्म करने पर सहमति बन गई है। इसके कारण जनता को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। फिलहाल भाजपा ने मणिपुर की सत्ता का फ्लोर टेस्ट पास कर लिया है। अब कांग्रेस के पास कोई विकल्प नहीं है कि वो इस का सम्मान करे। हालांकि कांग्रेस ने पहले ही अपना रुख साफ कर दिया था ये कहकर कि भाजपा ने गोवा और मणिपुर में लोकतंत्र की हत्या की है। हालांकि कांग्रेस अपना इतिहास खुद भूल जाती है।

आगे पढ़ेंः मणिपुर में इरोम शर्मिला की सबसे शर्मनाक हार, मिले सिर्फ 90 वोट

Click To Comment
Daily Horoscope
बाइक लवर्स के लिए आई ‘बाहुबली’…दुनिया की सबसे ताकतवर मोटरसाइकिल !

बाइक लवर्स के लिए आई ‘बाहुबली’…दुनिया की सबसे ताकतवर मोटरसाइकिल !

दुनिया आज बाइक को लेकर दीवानी है। भारत में भी इसकी दीवानगी सिर चढ़कर बोलती है। आज आपको बाहुबली मोटरसाइकिल के बारे में बताते हैं... New Delhi, Nov 14 : आज के वक्त में लोग बाइक को लेकर कितने दीवाने हैं, इस बात का अंदाजा सिर्फ इसी बात से लगाइए कि बाजार में कोई नई मोटरसाइकिल आते ही लोग इसके बारे में सर्च करना और पढ़ना शुरू कर देते हैं। युवाओं में खासकर मोटरसाइकिल का क्रेज देखते ही बनता है।…
ये पांच चीजें आपको Old Age  में भी रखेंगी जवान !

ये पांच चीजें आपको Old Age  में भी रखेंगी जवान !

खैर ये बात तो तय है एक न एक दिन तो हर व्यक्ति को बूढ़ा होना ही है लेकिन Old Age के शरीर में किसी पर निर्भर हो जाना... New Delhi, Jun 26 : ज्यादातर लोगों को ढलती उम्र के ख्याल से जवानी में ही ये चिंता सताती है कि अगर Old Age में हाथ-पैरों ने काम करना बंद कर दिया तो क्या होगा...? यह चिंता जवानी में ही उन्हें सताने लगती है कि Old Age  में क्या होगा जब एक गिलास…
Ankush Kakkar

Ankush Kakkar

Ankush Kakkar | Ankush Kakkar is having 10 year Experience in Vedic astrology and Vastu Consultancy.Ankush Kakkar have an expertise in four different streams of astrology. These are Vedic, Lal Kitab, KP and Vastu Consultancy. All of these streams have their strengths and weaknesses. I have an extensive knowledge as to where to use which stream for a flawless prediction. Some are used in Horary Astrology and some are good in predicting Varshphal. You need not worry if you do not…