यूपी हार के बाद मायावती ने की पहली कार्रवाई, नसीमुद्दीन सिद्दकी पर गिरा दी गाज !

mayawati, मायावती, मायावती, मायावती

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने अपने सबसे खासमखास नेता नसीमुद्दीन स‌िद्दीकी के पर कतर दिए हैं। जानिए क्‍यों हुई ये कार्रवाई ?

New Delhi Apr 21 : इस बार के उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीएसपी को करारी हार का सामना करना पड़ा था। इस बार यूपी विधानसभा में आलम ये है कि बीएसपी के बीस विधायक भी सदन तक नहीं पहुंच पाए हैं। हालांकि बीएसपी सुप्रीमोे मायावती अपनी इस हार के लिए ईवीएम में गड़बड़ी को ही जिम्‍मेदार मानती रही हैं। लेकिन, चुनाव के बाद पहली बार उन्‍हें अपनी पार्टी के किसी बड़े नेता के खिलाफ कार्रवाई करते हुए देखा गया है। मायावती ने अपनी ही पार्टी के सबसे कद्दावर नेता नसीमुद्दीन सिद्दकी के पर कतर दिए हैं। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी से उत्‍तर प्रदेश की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी लेकर उन्‍हें मध्य प्रदेश का प्रभारी बना दिया गया है। जाहिर ये रद्दोबदल उनके लिए कहीं से भी इनाम नहीं है।

यानी मतलब साफ है कि बीएसपी के राष्‍ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दकी के खिलाफ कार्रवाई की गई है। ऐसे में सवाल ये भी उठ रहे हैं कि क्‍या मायावती इन दिनों नसीमुद्दीन सिद्दकी के कामकाज से खुश नहीं हैं। हालांकि नसीमुद्दीन सिद्दकी लखनऊ मंडल के कोऑर्डिनेटर की जिम्‍मेदारी संभालते रहेंगे। लेकिन, ये जिम्‍मेदारी भी उनके पास अकेले नहीं हैं। उनके साथ इस काम में पांच अन्‍य नेता भी शामिल हैं। दरअसल, विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद अब मायावती ने संगठन में फेरबदल शुरु कर दिया है। जानकारी के मुताबिक मायावती ने उत्‍तर प्रदेश को दो हिस्‍सों में बांटकर संगठन का नया ढांचा तैयार किया है। प्रदेश के कुल 18 मंडलों को दो हिस्‍सों में बांट दिया गया है।

इसके बाद मायावती की ओर से 9-9 मंडलों की दो संगठनात्‍मक ईकाई बनाई गई है। लखनऊ, बुंदेलखंड और पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश को एक संगनात्‍मक ईकाई में मिला दिया गया है। इसमें लखनऊ और बुंदेलखंड के दो-दो मंडल और पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के 5 मंडल शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर पूर्वांचल, अवध और कानपुर मंडल को मिलाकर एक अलग ईकाई तैयार की गई है। इसमें पूर्वांचल के छह मंडल शामिल हैं। जबकि अवध के दो मंडल और कानपुर का एक मंडल शामिल है। जानकारी के मुताबिक दोनों संगठनात्‍मक ईकाई पर निगरानी के लिए 8-8 प्रभारी भी बनाए गए हैं। इसके अलावा हर मंडल में छह कोऑर्डिनेटर बनाए गए हैं। लखनऊ मंडल में भी कुल छह कोऑर्डिनेटर बनाए गए हैं। जिसें नसीमुद्दीन सिद्दकी भी एक हैं।

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने नसीमुद्दीन सिद्दकी का कद क्‍यों कम किया इस बात पर सवाल खड़े हो रहे हैं।  अभी तक उनके पास पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश और उत्तराखंड का प्रभार था। इसके साथ ही वो मुस्लिम समाज के प्रदेश प्रभारी भी थे। हालांकि सिद्दकी को राष्‍ट्रीय महासचिव के पद से नहीं हटाया गया है। लेकिन, यूपी की जिम्‍मेदारियां जरुर कम कर दी गई हैं। जानकारों का कहना है कि बीते चुनाव में सिद्दकी की दलित-मुस्लिम की रणनीति सफल नहीं हुई थी। जिसके बाद से वो मायावती की निगाहों में चढ़े हुए थे। बताया जा रहा है कि बहुत मुमकिन है कि शायद इसी वजह से प्रदेश में उनकी भूमिका को सीमित कर दिया गया है। भविष्‍य में इस तरह की कार्रवाई कुछ और नेताओं पर भी देखने को मिल सकती है।

आगे पढि़ए – मायावती ने अपनी ‘दलित’ सोच को नहीं किया ‘अपग्रेड’ ?

Click To Comment
Daily Horoscope
Now 3D printed customised pizza available!

Now 3D printed customised pizza available!

New York, July 14 : We might soon be getting highly customised 3D-printed food items to eat. The technology is poised to be widely used in the food industry in the next 20 years to customise foods and expedite delivery of food to consumers, shows new research. "No matter what field you are in, this technology will worm its way in," said Hod Lipson, a professor of engineering at Columbia University and a co-author of the book 'Fabricated: The New World…
Sexual health is one of imperative element of overall health

Sexual health is one of imperative element of overall health

New Delhi, July 19 : For some people any sex topic is out of bounds. But others, including the WHO consider sexual health an indispensable aspect of human health and well-being. From apprehension over how to have comfortable, agreeable sex to questions about testing for sexually transmitted diseases (STDs) and their prevention, many important topics come under the side street umbrella of sexual health. Michael McGee, MEd, a certified sexual health educator and adjunct professor at Montclair State University in Montclair,…
J K Sethi

J K Sethi

J K Sethi | J K Sethi Ji is as an Indian Vedic Astrologer and learnt astrology from India's renowned institutions & worldwide famous Astrologer and conferred the title of "Jyotish Shiromani", "Jyotish Visharad" & "Jyotish Kovid" from various institutions of India, practicing Systems Approach to Vedic Astrology (Hindu system of Astrology) since last decade. Life member of Indian Council of Astrological Sciences (ICAS), Madras, Member of International Institute of Predictive Astrology (IIPA), Satva, Systems Institute of Hindu Astrology. He has been participating in many consultation clinics…